What is internet ? इन्टरनेट क्या है ?

इन्टरनेट एक ऐसा नेटवर्क है जो दुनियाभर के कम्पूयटरो और विभिन्न प्रकार के सर्वर के जड़ा हुआ एक नेटवर्क है।

यह कम्यूटर या सर्वर कोई ना कोई ऐसी सेवा प्रदान करते है जो किसी अन्य व्यक्तियों या स्थान पर उसकी जरूरत हो।

अगर हमें ऐसी कोई सेवा की आवश्यकता है तो हमें अपने कम्पूटर को इस विशाल नेटवर्क का हिस्सा बनाने के लिए इंटरनेट से कनेक्ट होना पड़ता है चाहे हमे सेवा प्रदान करना हो या सेवा का उपयोग करना हो।

इस विशाल नेटवर्क के माध्यम से हम देश दुनिया के किसी भी स्थान पर रह कर इसका उपयोग कर सकते है।

इन्टरनेट से कनेक्ट होने के लिए हमें किसी Internet service provider (ISP) के माध्यम से अपने कम्पूटर को जोड़ना पड़ता है। जिस प्रकार हम घरों में केबल टी वी का कनेक्शन लेते है।

 Internet service provider (ISP) जैसे  Reliance, Sify, GEO, etc.

Internet service provider (ISP) हमें एक Public IP (internet Protocol) प्रदान करते है जिसके माध्यम से हमारा सर्वर इंटरनेट पर सेवा देने या लेने के लिए सक्षम हो जाता है।

इंटरनेट से जुडने के लिए हमें Router and switch  जैसे devices  की भी जरूरत पड़ती है।





हम किसी एक या एक से अधिक कम्पयूटर के समूह को  इंटरनेट से जोड़ने के लिए पहले अपना LOCAL NETWORK (LAN) बनाना पड़ता है इन कम्पूटरों के अन्दर एक नेटवर्क कार्ड होता है जिसे हम ETHERNET or NETWORK CARD कहते है जिसमें एक  ETHERNET  PORT or RJ45 PORT कहते है जैसा की हम इस NETWORK SWITCH पह देख सकते है।
 या SWITCH 8, 24, 48 PORT की झमता के साथ उपलब्ध होता है हम अपनी जरूरत के अनुसार इसे लगा कर अपना LOCAL NETWORK (LAN) बना सकते है।

अब इस LOCAL NETWORK (LAN) को इंटरनेट से जोड़ने के लिए ROUTER  के माध्यम से इंटरनेट से जुड़ सकते है।

ROUTER  एक BRIDGE  की तरह काम करता है। जो हमारे LAN और इंटनेट के मध्य में होता है।







कम्पूटर को SWITCH,  ROUTER  ETHERNET  PORT से जोड़ने के लिए हमें जिस केबल की आवश्यकता पड़ती है उसे ETHERNET  केबिल कहते है। 












IP ADDRESS

हमारे नेटवर्क में एक या एक से अधिक कम्पूयटरों को जोड़ने के लिए IP ADDRESS की भी आवश्यकता पड़ती है।

जैसे की हर एक व्यक्ति को सम्पर्क करने के लिए हम उसके मोबाइल नम्बर के माध्यम से उस तक सूचनाएे पहुँचाते है उसी प्रकार नेटवर्क पर कम्पयूटरों को एक दूसरों से बात करने के लिए हमें IP ADDRESS  की जरूरत होती है।

IP ADDRESS  हर कम्पयूटर का एक यूनिक नम्बर होता है। जो हमें नेटवर्क पर उसकी पहचान के लिए मदद करता है।

IP ADDRESS  A B C D E CLASS को होते है। जिसमें मुख्यतः A B C इस्तेमाल में है।

EXAMPLE

CLASS A 10.0.0.0 

CLASS B 172.16.0.0

CLASS C 192.168.0.0

SUB NET MASK यह IP ADDRESS को सबनेटवर्क में बाटनें का काम करता है। जिससे हम IP ADDRESS को उपयोग के अनुसार बढ़ा या घटा कर उपयोग के अनुसार प्राप्त कर सके। 







Previous Post
Next Post
Related Posts

0 Comments: